_bhuteshwar-mahadev-1466996294

रायपुर। छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में मरौदा गांव है। वहां के घने वन के मध्य एक शिवलिंग प्राकृतिक रूप से निर्मित है। जिसे भूतेश्वर नाथ के नाम से जाना जाता है। इसे संसार का सबसे बड़ा शिवलिंग मानते हैं।

इससे संबंधित अद्भुत रहस्य है कि प्रत्येक वर्ष इस शिवलिंग का आकार बढ़ जाता है, जो श्रद्धालुओं के लिए आज भी रहस्य बना हुआ है। प्रत्येक वर्ष सावन महीने में पड़ने वाले सोमवार को इस शिवलिंग के दर्शनों हेतु और जल अर्पित करने के लिए सैकड़ों भक्त पैदल यात्रा करके यहां पहुंचते हैं।

प्रत्येक वर्ष बढ़ता है शिवलिंग 

का छह से आठ इंच आकार इस शिवलिंग के चमत्कार को देखकर लोगों के मन में उनके लिए श्रद्धा अौर विश्वास है। शिवलिंग का आकार स्वयं बढ़ता जाता है। जमीन से इसकी ऊंचाई 18 फीट अौर गोलाई 20 फीट है। प्रत्येक वर्ष इसकी ऊंचाई मापने पर पता चलता है कि इसका आकार निरंतर 6 से 8 इंच बढ़ रहा है।

http://loksamachar.in/wp-content/uploads/2016/06/bhuteshwar-temple-55bf1f95eb859_l.jpghttp://loksamachar.in/wp-content/uploads/2016/06/bhuteshwar-temple-55bf1f95eb859_l-150x150.jpgADMINधर्मरायपुर। छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में मरौदा गांव है। वहां के घने वन के मध्य एक शिवलिंग प्राकृतिक रूप से निर्मित है। जिसे भूतेश्वर नाथ के नाम से जाना जाता है। इसे संसार का सबसे बड़ा शिवलिंग मानते हैं। इससे संबंधित अद्भुत रहस्य है कि प्रत्येक वर्ष इस शिवलिंग का आकार...HIDDEN STORIES